कोरोना के बढ़ते मामलों पर 5 मई को होने वाली कैबिनेट की बैठक में इस पर चर्चा होगी. कैबिनेट मंत्री राम लाल मारकंडा ने कहा कि लॉकडाउन लगाना सही नहीं है, लेकिन इस पर कैबिनेट में चर्चा होगी. मौजूदा हालातों की समीक्षा कर कैबिनेट में इस पर फैसला होगा.
हिमाचल में 5 मई से लॉकडाउन लगेगा या नहीं, कैबिनेट करेगी फैसला; लाहौल स्पीति में एंट्री के लिए नया नियम

हिमाचल में कोरोना तेज रफ्तार से बढ़ रहा है. संक्रमितों के साथ -साथ मौत का आंकड़ा नए रिकॉर्ड बना रहा है. ऐसे में बहुत से लोग लॉकडाउन की बात कह रहे हैं. प्रदेश में एक्टिव केसों की संख्या 20 हजार को पार कर चुकी है और अब तक 1580 से ज्यादा लोगकोरोना से दम तोड़ चुके हैं. प्रदेश में जहां साढ़े 83 हजार से ज्यादा लोग कोरोना से ठीक हुए हैं, वहीं 1 लाख 5 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं. ऐसे में लॉकडाउन लगने की चर्चाएं जोरों पर हैं.

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच प्रदेश में लॉकडाउन लगाने की बात हो रही है. लेकिन इस पर अंतिम फैसला 5 मई को होने वाली कैबिनेट की बैठक में ही होगा. इस बाबत कैबिनेट मंत्री राम लाल मारकंडा ने कहा कि लॉकडाउन लगाना सही नहीं है, लेकिन इस पर कैबिनेट में चर्चा होगी. मौजूदा हालातों की समीक्षा करने के बाद कैबिनेट में इस पर फैसला लिया जाएगा. वहीं दूसरी ओर अटल टनल के दर्शनों के लिए जाने वाले लोगों से जुड़ी एक खबर है. बिना कोरोना टेस्ट के कोई भी अटल टनल क्रास नहीं कर पाएगा.

जनजातीय विकास मंत्री राम लाल मारकंडा ने साफ किया कि चाहे वो लेबर हो, पर्यटक हो या अन्य जिलों का व्यक्ति हो. वह बिना कोविड नेगेटिव रिपोर्ट के लाहौल स्पीति में प्रवेश नहीं कर पाएगा. घाटी में बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. मारकंडा ने साफ कहा कि चाहे बीआरओ की लेबर है या फिर लाहौल-स्पीति के किसान की लेबर है. उन सभी का पहले कोरोना टेस्ट करवाया जाएगा. उन्होंने कहा कि वर्तमान में जिले में 200 से ज्यादा एक्टिव केस हैं और इनमें से मात्र 5 स्थानीय निवासी हंै. ऐसे में ये देखा गया है जो भी बाहर से आ रहा है उससे घाटी में संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है. जिसके चलते ये फैसला लिया गया है.

You Might Also Like

Premium Offers

Get Newsletter

Advertisement

Voting Poll (Checkbox)

Voting Poll (Radio)

Readers Opinion